Wednesday, 7 February 2018

प्लास्टिक या लैमिनेटेड आधार कार्ड से चोरी हो सकता है आपका डेटा



Picture: Google Search 
आधार को लेकर तमाम बातें कहीं जाती हैं, कई बार सुरक्षा को लेकर भी सवाल उठते रहें हैं अब खुद आधार अथॉरिटी ने कहा प्लास्टिक या पीवीसी पर प्रिंट कार्ड से आपकी आधार से जुडी जानकारियाँ चोरी की जा सकती हैं, इसके अलावा लेमिनेशन या पीवीसी प्रिंट होने पर कार्ड पर छपे QR कोड को रीड करना कठिन हो सकता है. इससे पहले भी आधार डाटा लीक होने या थर्ड पार्टी ट्रान्सफर होने की खबरें आती रही हैं. लेकिन सरकार इस प्रकार किसी संभावना से लगातर इनकार करती रही है.
लेकिन जिओ और एयरटेल जैसी कम्पनियों पर आधार दुरूपयोग के आरोप लगे हैं और एयरटेल ने तो सिम वेरिफिकेशन के नाम पर कई ग्राहकों के बैंक अकाउंट उनकी इजाजत बिना खोल दिए हैं, जिसके कारण आधार अथॉरिटी ने एयरटेल के आधार लिंक के अधिकार को कुछ समय तक के लिए सस्पेंड कर दिया था.
इसलिए अपने आधार कार्ड को ना ही लेमिनेट करवाएं और भूलकर भी उसे प्लास्टिक या पीवीसी पर प्रिंट ना करवाएं. 

Monday, 5 February 2018

आधार रखें अपडेट नहीं तो भविष्य में हो सकती है परेशानी

नई दिल्ली, आधार आज जिंदगी की संख्या बन चुका है, बैंक एकाउंट हो या फिर सिम कार्ड, पेंशन हो एक आकादमिक रिकार्ड्स सभी को आधार से जोड़ा जा रहा है। आधार एक यूनिक बायोमेट्रिक तकनीक है। जिसे हर व्यक्ति का व्यक्तिगत परिचय है। मात्र एक अंगूठे के वेरिफिकेशन से कई कार्य किये जा सकेंगे। 


लेकिन कई बार आधार की जानकारी अपडेट ना होना आपके लिए परेशानी का सबब बन सकता है। बिना आधार ना आप गैस की सब्सिडी ले सकते हैं, ना ही बैंक एकाउंट खुलवा सकते हैं। अब तो नर्सरी से लेकर कॉलेज तक बिना आधार के कुछ नहीं हो सकता है। 
अब भी तमाम लोगों के आधार में कई जानकारियाँ पूरी नहीं है कहीं नाम सही नहीं है, कई लोगों के आधार से फोन नंबर नहीं जुड़ा है ऐसी स्थिति में आप आधार डाउनलोड या उसमें कोई परिवर्तन बिना ओटीपी नहीं कर पाएंगे। अब आपको बताएं क्या आधार से लिंक नहीं होने पर आपको पेनाल्टी भी देनी पड़ सकती है? जी हाँ यदि आपने अपने आधार से पैन कार्ड नहीं जोड़ा है तो आपको हर वित्तीय वर्ष के अनुसार रूपया 10,000 पेनाल्टी देनी पड़ेगी।
इसके अलावा अलग अलग संस्थाएं आधार कार्ड से लिंक ना होने पर आपको बड़ी पेनाल्टी लगाई जा सकती है। अब नए पैन कार्ड के लिए अप्लाई करते समय आपको आधार संख्या को देना जरूरी कर दिया है। इनके अलावा म्यूच्यूअल फण्ड, बीमा, फिक्स डिपाजिट के साथ भी आधार देना पड़ेगा। कई एप जैसे digilocker जिसे आप प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं को भी आधार से जोड़ना जरूरी है। इसके अलावा एक अन्य सरकारी एप्प जो प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते है वह है "उमंग" इस एप्प के जरिये आप आधार से लिंक हो कई सरकारी योजना से जुड़ सकते हैं, जैसे गैस बुकिंग, पेंशन योजनाएं आदि। एक ऐप के जरिये कई कामों को एक साथ करने का ये सबसे आसान तरीका है। आधार अंक से आप किसी भी UPI एप के जरिये फण्ड ट्रांसफर भी कर सकते हैं, ऐसा करने के लिए आपको बैंक से सम्बंधित कोई डिटेल्स नहीं देने होते हैं।
अब सवाल ये है कि आधार अपडेट कैसे करें? इसके दो तरीके हैं, एक तो आधार केंद्र जाइये या फिर ऑनलाइन लेकिन ऑनलाइन आप केवल पता और ईमेल एड्रेस ही अपडेट कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको एड्रेस प्रूफ के लिए निर्धारित दस्तावेज अपलोड करने होंगे। आधार केंद्र से आप जन्मतिथि, नाम, पता या पिता का नाम भी संशोधित कर सकते हैं। इसके लिए आपके सभी बॉयोमेट्रिक पुनः लिए जाएंगे, आपकी फ़ोटो भी ली जाएगी। इस अपडेट के बाद आपको एक एनरोलमेंट आईडी दी जाएगी, जिसके बाद अपने नए अपडेट कार्ड को डाउनलोड कर सकते हैं।