Tuesday, 19 December 2017

आधार लिंक के नाम पर एयरटेल ने किया 47 करोड़ का घपला

एक ओर जहाँ हर योजना या डाक्यूमेंट्स को आधार से जोड़ने की बात कि जा रही है. वही इसका मिसयूज भी शुरू हो गया है, पहले जिओ पर आरोप लगा था कि उसने यूजर्स के आधार डेटा को सार्वजनिक किया है. अब नया आरोप एयरटेल पर हैं. यहाँ एयरटेल ने 23 लाख मोबाइल यूजर्स के मोबाइल आधार लिंक के नाम पर एयरटेल पेमेंट बैंक में अकाउंट खुलवा दिए. जबकि उपभोक्ताओं को इसकी कोई जानकारी नहीं दी गयी. बिना इजाजत उनकी एलपीजी सब्सिडी भी एयरटेल बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर करवा ली. यहाँ एयरटेल काफी बड़ा गेम खेल गया और आधार लिंक के नाम पर करोड़ों रूपये कमा लिए. ऐसा कर इन 23 लाख खातों से एयरटेल ने 47 करोड़ रूपये इकठ्ठे कर लिए हैं. आधार जारी करने वाले प्राधिकरण UIDAI ने भारती एयरटेल और एयरटेल पेमेंट्स बैंक के खिलाफ कड़ी कारवाई करते हुए उनका E-KYC लाइसेंस अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. एयरटेल और एयरटेल पेमेंट्स बैंक अब E-KYC के जरिए अपने मोबाइल ग्राहकों के सिम कार्ड का आधार कार्ड आधारित वेरिफिकेशन नहीं कर सकेंगे. 
इसके अतिरिक्त एयरटेल पमेंट बैंक्स के E-KYC वेरिफिकेशन पर भी रोक लगा दी है. अब कहा तो ये जा रहा है कि एयरटेल उपभोक्ताओं को उनके पैसे मय ब्याज लौटाएगा. लेकिन एयरटेल पेमेंट बैंक के खिलाफ क्या कार्रवाई होगी और एयरटेल टेलीकॉम को इसके लिए क्या सजा दी जायेगी? ये कोई बता नहीं पा रहा है. एक और जहां सरकार आधार को हर योजना के साथ जोड़ने की बात कह रही है, वही प्रारम्भिक स्तर पर ही इसमें बड़े खेल सामने आने लगें है. अभी तो ये एक शुरूआत है, आगे और भी खेल सामने आयेंगें. अब एक नया खेल एयरटेल हाईक मेसेंजर यूज करने वालो के साथ खेल रहा है, इस पर जल्द ही एक बड़ा खुलासा NewsCause टीम आपके सामने करेगी. 

No comments:

Post a Comment