Monday, 31 July 2017

अब रसोई में डाका: एल पी जी सब्सिडी होगी समाप्त

सरकार अब घरेलू एलपीजी पर मिलने वाली सब्सिडी खत्म कर रही है, मार्च 2018 या उससे पहले सब्सिडी को पूर्ण रूप से समाप्त कर दिया जाएगा ये जानकारी केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री धमेंद्र प्रधान ने दी, उन्होंने कहा कि 14.2 किलोग्राम वाले सिलिंडर की कीमत हर माह 4 रूपया बढ़ाई जायेगी. लोकसभा में एक लिखित जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार ने ये आदेश 30 मई 2017 को ही पास कर दिया था.

  • हर महीने बढ़ेंगे दाम, 4 रूपया बढ़ाया जाएगा दाम 
  • पेट्रोलियम मंत्री ने लोकसभा में दी ये जानकारी 
  • मार्च 2018 तक घरेलू गैस में सब्सिडी को खत्म किया जायेया 
  • मोदी सरकार ने जिन गरीबों को उज्ज्वला योजना में गैस कनेक्शन दिए हैं, उनका क्या होग?
  • विपक्ष क्यों है खामोश?

आयल कम्पनियों को 1 जून से ही प्रतिमाह 4 रूपया बढाने को कहा गया है. ये आदेश मार्च 2018 या सब्सिडी खत्म होने तक लागू रहेगा.
सभी तेल कम्पनियों को मार्च 2018 तक सब्सिडी पूरी तरह खत्म करने का आदेश दे दिया गया है. इससे पहले 1 जुलाय 2016 को भी सरकार ने प्रतिमाह सिलेंडर की कीमत 2 रूपया बढाने का आदेश कम्पनियों को दिया था. जिसके बाद से ये कम्पनियां 10 बार दाम बढ़ा चुकी हैं. एक ओर केंद्र सरकार उज्जवला योजना के अंतर्गत गैस कनेक्शन बाँट रही है और वही दूसरी ओर गैस की सब्सिडी खत्म कर रही है, अब सवाल ये है कि एक गरीब जिसे मुफ्त में गैस कनेक्शन दिया गया था इतना महंगा सिलिंडर कैसे खरीद पायेगा. अगर दिल्ली की बात करें तो सब्सिडी वाले सिलिंडर की कीमत 477.6 रूपये है, बिना सब्सिडी इसकी कीमत 564 रूपये है. इस प्रकार अभी लगभग 86 रूपया प्रति सिलिंडर सब्सिडी दी जा रही है. पहले ही देश की जनता बढ़े रेल किराए, बढ़ते पेट्रोल और डीजल के दाम, खाने के सामान के बढ़ते दामों से त्रस्त है उसके उपर ये अतिरिक्त बोझ जबकि बैंक बचत खातों पर ब्याज दर लगातार कम कर रहें हैं छोटे और मध्यम वर्ग को देश में खत्म करने की साजिश ही दिखती है. इस पर विपक्ष भी चुप्पी साधे है, उसके लिए वन्देमातरम, गौ रक्षक भूख से बड़े मुद्दे हो गये हैं.



No comments:

Post a Comment